आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अउ सहायिका मनके केंद्र ह बढ़ाईस मानदेय



  • 3000 ले बढ़ाकेे 4500 दिही केन्द्र सरकार,
  • छ: साल बाद बढ़ाइस केंद्र सरकार हा मानदेय राशी
  • 1 अक्टूबर 2018 से मिलही बढ़हे मानदेय
  • 1 अक्‍टूबर 2018 से 31 मार्च 2020 अवधि खातिर केंद्र सरकार कुल 10649.41करोड़ रूपिया भुगतान करही।
  • आंगनबाड़ी ल बने चलाये खातिर सहायिका मनला 250 रूपिया उपरहा मिलही।


दिल्ली। नवा दिल्ली म प्रधानमंत्री मोदी जी के अगुवाई म मंत्रिमंडल की आर्थिक मामला समिति के बइठका के आयोजन करे गे रिहिसे जेन म देस भर के आंगनबाड़ी केन्द्र म काम करत कार्यकर्ता  अउ सहायिका मानके मानदेय बढ़ाये अउ आंगनवाड़ी सेवा (समेकित बाल विकास सेवा अम्‍ब्रेला स्‍कीम) के तहत आंगनवाड़ी सहायिका मनके कार्य के अनुरुप प्रोत्साहन राशि मिलइसा रासी म बढ़ोत्तरी म करे गीस। जो न 1 अक्‍टूबर 2018 ले लागू होही अउ जेखर खातिर 31 मार्च 2020 तक ले केन्द्र सरकार कुल 10649.41 करोड़ रूपए  के भगुतान करही। देस भर म काम करत करीब 27 लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ले येकर लाभ मिलही।

मानदेय के ब्योरा-: 


  1. आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के मानदेय 3000/-रुपिया ले बाढ़के अब 4500/- रूपिया मिलही। 
  2. मिनी आंगनबाड़ी के कार्यकर्ता के मानदेय 2250/- रुपियो ले बाढ़के 3500/- रुपिया मिलही। 
  3. आंगनवाड़ी सहायिका के मानदेय 1500/- रुपिया ले बाढ़के 2250/- रुपि​या महीना मिनही। 
  4. आंगनवाड़ी केन्द्र ल बने चलाये बर आंगनवाड़ी सहायिका मनला प्रतिमाह 250/-रूपिया उपराहा मिलही।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता मन मिलिस प्रधानमंत्री मोदी ले
केंद्र सरकार बढ़ाइस आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मनके मानदेय


नई दिल्ली। देस भर म महिला अउ बाल विकास के योजना ल जमीनीस्तर म पहुंचाये खातिर गांव अउ मजरा-टोला म सासन डहर ले आंगनबाड़ी केंद्र खोले गे हावय। जेन म दू पद हावय एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अउ दूसर आंगनबाड़ी सहायिका। महिला अउ बाल विकास विभाग के संगे-संग आन काम ले तको आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मन से सरकार ह बरपेली कराथे,फेर मानदेय ह सम्मान जनक नइये ये सेती कार्यकर्ता अउ सहायिका मन असंतुष्ट हावय। कार्यकर्ता अउ सहायिका मनके मनदेय ह अलग-अलग राज्य म अलग-अलग हावय। एजेंसी ले आरे मिले हावय के प्रधानमंत्री ह केंद्र सरकार कोति ले मिलइया मानदेय म बढ़ोतरी करे हावय। 

देस भर ले लगभग 100 कार्यकर्ता मन पीएम से मुलाकात करिन। ये मउका म पीएम मोदी जी मन कहिन के नान्हे लइका के सारीरिक विकास अउ पोसन म आंगनवाड़ी कार्यकर्ता मनके जबर योगदान हावय। तुहरे सेती योजना ह सफल होवत हाबे। लइका अउ महतारी के जतन के बने परंपरा सुरू होवत हवय, सबल अब योजना के लाभ मिलत हावय। लइका मन आंगनबाड़ी म पूरक पोसन के संगे-संग गियान के बात तको सिखथे।