छत्तीसगढ़िया वाद के जीत


छत्तीसगढ़ म 2018 के विधानसभा चुनई ह अवइया केउ बच्छर ले सुरता रही। सुरता रही भाजपा के तीन कार्यकाल अउ कांग्रेस के रिकॉर्ड जीत ह। तीन पइत ले कुर्सी पोगराये। 15 साल के राज म भारी अतलंग घलो होगे रिहिसे। जनता हलाकान अउ नेता मन लाले लाल होवत रिहिन। काकरो सुनबेच नइ करत रिहिन, आतंक अतेक जनात रिहिस के अफसर मन तको बीजेपी के कार्यकर्ता लागय। कोनो ल आम जनता के फिकरे नइ रिहिसे। अइसन म सरकार के निपटना तय रिहिस। फेर अतेक अंतर ले निपटही येकर अंदाजा कोनो ल नइ रिहिस। भाजपा के हार के आंकड़ा ए बात के परमान हावय के सरकार के कामकाज ले जनता कतका हलाकान होगे रिहिस। जब सवांगे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह कम अंतर ले जीते हावय त चुनई हरइया मंत्री मनके का किबे। 



लोगन तीन बार जेला चुनके विधानसभा म बइठाइस जनता के दुख दरद ल सुनही अउ गुन के बुता करही किके ओमन सत्ता के नशा म चूर होगे, अपन-अपन झोली भरे म लगगे। छत्तीसगढ़ म विकास तो दिखत हे फेर छत्तीसगढ़िया मनके नहीं अफसर, मंत्री अउ परदेसिया के। किसान, बनिहार, अउ जवान रोजगार बर मारे-मारे फिरत रिहिन। ये बात बार-बार उठय कि गरीब मन गरीब होवत हे अउ अमीर मन अमीरे हावत हे। ये खाई ल भाजपा सरकार कम करे के बजाय बढ़ाये के उदीम करे लगिस। इसी सब बात के जुवाब दिस जनता उनला। बने काम करे रहितिस त अइसने हाल होतिस का। भाजपा के हार अउ कांग्रेस के जीत म छत्तीसगढ़ियावाद तको भारी अहम भूमिका निभाये हाबे। नतीजा ल एक नजर देखे जाये तो कतकोन जगह दिगर समाज के लोगन मन तो पहिली पइत विधानसभा म रिकॉर्ड जीत के संग पहुंचे हावय। 



बदलाव ले आम जनता तको खुश हावय, नवा सरकार ले कुछ नवा करे के आस तको हावय। छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ी अउ छत्तीसगढ़िया मन के 2018 के जनादेश के कांग्रेस पार्टी सम्मान करत नवा मुख्यमंत्री काम करही अइसे सबला विश्वास हावय। फेर अभी नवा मुखिया कोन होही, कोन कोन मंत्री मंडल म रही तिकर नाम आए के बाद ही घोसना पाती उपर काम सुरू होही। भूपेश बघेल, टी.एस. सिहदेव या चरणदास महंत तइसन नेता मन म जिमेदारी तय होही तेकर पाछू काम सुरू होही। ये सब काम म बखत तो लागबे करही। कांग्रेस ह पाछू 15 साल ले सत्ता ले दूरिहा रेहे हावय अउ ये बखत म कतकोन नेता अइस अउ गीस, भाजपा के कुछूच नइ बिगाड़ सकिस। अइसन म एक बात तो साफ हावय के भाजपा के खेल बिगाड़े हावय आम जनता ह तव कांग्रेस ल तको आम जनता बर काम करे ल परही, जोन वादा करे हे घोसना पाती म तेन ल पूरा करे बर परही।

येसो राज्योत्सव के जलसा सिरिफ राजधानी म तीन दिन के होही

राज्योत्सव 2018



रायपुर। छत्तीसगढ़ म विधानसभा चुनई होवइया हावय। जेकर तियारी घलोक सुरू होगे हावय, दू चरन म होही चुनई। इही बीच छत्तीसगढ़ राज स्थापना दिवस तको आवत हाबे जेन ल आचार सहिता के सेती प्रदेस अधिकारी मन ह तीन दिन म उरकाए के फइसला करे हावय। राज्योत्सव के जलसा ह सिरिफ राजधानी म होही, जिला मन म नई होवय। ये पइत राज अलंकरण समारोह तको नइ होवय।

 मंत्रालय म सचिव रेंक के अफसर मन के बइठका म यहू बात के फइसला होय हाबे के राज्योत्सव म मुख्य रूप ले खादी अउ ग्रामोद्योग, हस्तशिल्प, माटीकला, रेशम, कृषि उत्पाद के परदसनी, व्यापार मेला, फूड जोन, फन फेयर, बुक फेयर अउ मनोरंजन के कार्यक्रम तको आयोजित होही।

लोकप्रिय पोस्ट