पीरा ल गठियाए रमन के दरबार म पहुंचिस किसान नेता

अब किसानी बांध भरोसा, नहर पानी के अगोरा 

अंजोर.रायपुर। छत्तीसगढ़ म ये बखत कमती पानी गिरे के सेती किसान मन उपर जबर बिपदा आगे हाबे। कतकोन किसान मन दूदी परत बोवई करिस तभो ले फत नइ परिस, पानी के सेती। अब तो किसान करा बीजहा तको नइ बांचे हाबे। दिन रात इही संसो घेरे के खेत के फसल ल कइसे बचाए। किसान मनके पीरा ल गठियाये रमन सरकार के दरबार म अभनपुर के विधायक धनेंद्र साहू रायपुर ग्रामीण के विधायक सत्यनारायण शर्मा, गुरूमुख सिंह होरा संग अऊ आन किसान नेता मन गोहार करिन। किसान नेता मनके मांग म राज के मुखिया डॉ. रमनसिंह किहिन के फसल ल पानी दे खातिर कुछू उदीम करबोन। अबही तको सरकार के मुखिया ह बांध मनके पानी के भरावा के समीक्षा करे गे गोठ करत हाबे। ओकर कहना हाबे के निस्तारी, पेयजल अउ सिंचाई खातिर जरूरत के हिसाब ले पानी दे फइसला जल उपयोगिता समिति कोति ले करे जाही। ये बुता बर जिला के कलेक्टर मनला निर्देस तको दे गे हावय। किसान के सिंचाई पम्प खातिर बिजली कनेक्सन के लंबित मालला ल तको लघियात निराकरन कराये जाही। मुखिया के कहना हे के ओमन हर संभव मदद करही।  
जल संसाधन विभाग कोति ले मिले जानकारी के मुताबिक राज के किसान मनला ये बखत सिंचाई परियोजना ले लगभग तीन लाख 64 हजार हेक्टेयर खरीफ फसल ल पानी दे जावत हवय। मुख्य अभियंता के मुताबिक जांजगीर-चांपा जिला म एक लाख 90 हजार हेक्टेयर, कोरबा जिला म छह हजार हेक्टेयर, मुंगेली जिला म 19 हजार हेक्टेयर, गरियाबंद जिला म 22 हजार हेक्टेयर, राजनांदगांव जिला म छह हजार हेक्टेयर, कबीरधाम जिला म 13 हजार हेक्टेयर, सरगुजा जिला म 16 हजार हेक्टेयर, दुर्ग जिला म चार हजार हेक्टेयर, धमतरी जिला म आठ हजार हेक्टेयर फसल ल पानी दे जावत हाबे। बांध म जल भराव के स्थिति सुधरही तब अऊ जादा रकबा ल पानी दे जाही। 

लोकप्रिय पोस्ट