प्रधानमंत्री के 'मन की बातÓ ले फेर लहुंटगे घर - घर रेडियो,अखिल भारतीय रेडियो श्रोता सम्मेलन के आयोजन

अंजोर.रायपुर। छत्तीसगढ़ रेडियो श्रोता संघ कोति ले 'श्रोता दिवसÓ के मउका म अखिल भारतीय श्रोता सम्मेलन के आयोजन रायपुर के वृंदाबन हाल म करे गे रिहिस हाबे। सम्मेलन म छत्तीसगढ़ के अलावा हरियाणा, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र के रेडियो श्रोता संघ के प्रतिनिधि सामिल होए रिहिस हाबे। सम्मेलन म रेडियो श्रोता मनला ल छत्तीसगढ़ सरकार के योजना अउ ओकर उपलब्धी उपर प्रकासित जनसंपर्क विभाग के पुस्तक तको बांटे गिस। 
्रये मउका म सम्मेलन क माई पहुना छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) के अध्यक्ष अशोक बजाज जी ह किहिन के सूचना क्रंति के आनुधिक युग म टेलीविजन अउ इंटरनेट जइसे संचार संसाधन के बावजूद रेडियो के महत्ता अउ प्रासंगिकता आज भी कायम हवय। प्रधानमंत्री सिरी नरेन्द्र मोदी तको अपन मन के बात केहे खातिर रेडियो ल चुने हाबे। जेकर ले रेडियो के महत्ता तको बाढ़ीस हाबे। भारत के घर-घर म आकाशवाणी ले 'मन की बातÓ कार्यक्रम ल लोगन मन बड़ चाव ले सुनथे। ओमन आगू किहिन के  रेडियो के महत्ता ल खत्म करे के सरी कुचक्र फेल हागे। भारत म पहिली रेडियो प्रसारण स्वतंत्रता संग्राम के महान क्रांंतिकारी कोति ले 20 अगस्त 1921 के होए रिहिस इही दिन ल सोरियावत छत्तीसगढ़ के रेडियो श्रोता मन कोति ले पाछू दस बछर ले सरलग 'श्रोता दिवसÓ अउ श्रोता सम्मेलन के आयोजन करत आवथे। 
ये मउका म वरिष्ठ पत्रकार नीलकण्ठ पारटकर, विविध भारती (मुम्बई) के वरिष्ठ उदघोषक अशोक सोनावाणे, आकाशवाणी रायपुर के दीपक हटवार, हिन्दी अउ छत्तीसगढ़ी के लोकप्रिय कवि रामेश्वर वैष्णव, वरिष्ठ रंगकर्मी चंद्रशेखर व्यास, आकाशवाणी अम्बिकापुर के उदघोषक शोभनाथ साहू सहित अऊ गजब झिन वक्ता मन अपन विचार रखिन। आगू ये कार्यक्रम म 109 पइत रक्तदान करइया विनोद माहेश्वरी के सम्मान करे गिस। देहदान के घोसना करइया रतन जैन, विनय शर्मा अउ परसराम साहू के संग अऊ अनेक रेडियो श्रोता मनके सम्मान करे गिस। जेमा छत्तीसगढ़ रेडियो श्रोता संघ के अध्यक्ष परसराम साहू, सचिव विनोद वंडलकर, मोहन देवांगन, कमल लखानी, डॉ. प्रदीप जैन, कमलकांत गुप्ता, सुरेश सरवैया, पुरूषोत्तम सिंह, कांतिलाल बरलोटा, हरमिंदर सिंह चावला, चंद्रपाल सिंह, आर.सी. कामड़े, दिनेश वर्मा, भागवत वर्मा, ईश्वरी प्रसाद साहू, दुर्गाराम साहू, लक्ष्मण सिंह, रमेश यादव, धरमदास वाधवानी, प्रदीप चंद, तुकाराम कंसारी, श्रीमती कोकिला जैन, श्रीमती रवीना लखानी, वाराणसी के बबलू आम्रवंशी, मुस्ताक सुलेमानी, आजान कुमार सिंग, सरीफुद्दीन अंसारी, रोहतक के महेन्द्र शाह, सागर के चंद्रेश गौहर अउ कटनी के अनिल ताम्रकार मन सम्मेलन म जुरियाए रिहिन हाबे।