अंजोर छत्तीसगढ़ी मासिक पत्र जुलाई 2016

anjoe- july-2016



ई पेपर डाउनलोड लिंक—



खदान क्षेत्र के भूविस्थापित परिवार के लइका मनके मेडिकल-इंजीयनियरिंग, कृषि अउ आई.आई.टी. के पूरा फीस देही सरकार

रायपुर.ए/अंजोर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह राष्ट्रीय खान अउ खनिज संगोष्ठी के मउका म अपन बात राखत किहिन के अब केंद्र सरकार के नवा राष्ट्रीय खनिज नीति ले देस म विकास के नवा दुवारी खुलगे। हम सब अपन पर्यावरण ल सुरक्षित राखत खान के संतुलित दोहन खातिर वचनबद्ध हाबन। देस के अर्थव्यवस्था म खनिज के गजब योगदान हावय। अउ अब ले राज्य सरकार ह छत्तीसगढ़ के खदान क्षेत्र म भू-विस्थापित परिवार के लइका मनके मेडिकल, इंजीनियरिंग, आई.टी.आई. कृषि अउ आई.आई.टी. जइसन उच्च तकनीकी शिक्षा के पूरा फीस ल भरही। येकर अलावा कोरबा ले रायगढ़ तक राज्य के खदान बहुल इलाका म सत-प्रतिसत गरीब परिवार ल प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सिरिफ 200 रूपिया के पंजीयन शुल्क लेके 5000 रूपिया के रसोई गैस कनेक्शन अउ चूल्हा नि:शुल्क देही। ये मउका म जलसा के माई पहुना केन्द्रीय खनिज अउ इस्पात मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, खनिज राज्य मंत्री विष्णुदेव साय जी मन तको अपन विचार रखिन। संगे-संग छत्तीसगढ़ सरकार के वाणिज्य अउ उद्योग मंत्री अमर अग्रवाल, कृषि अउ जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, राजस्व, उच्च शिक्षा अउ तकनीकी शिक्षा मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, श्रम, खेल अउ युवा कल्याण मंत्री भईयालाल राजवाड़े, रायपुर के सांसद रमेश बैस, मुख्य सचिव विवेक ढांड के अलावा अऊ आन बड़का अधिकारी मन तको जुरियाए रिहिन हावय। 
केन्द्र सरकार के राष्ट्रीय खनिज उत्खनन नीति 2016 
खदान क्षेत्र के सबो अंचल म जिला खनिज न्यास, (डिस्ट्रिक माइनिंग फाउंडेशन) ह अब काम करही। स्थानीय निवासी मन के शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, सड़क अइसन जरूरत ल पूरा करे खातिर वित्तीय साधन मिलही। छत्तीसगढ़ ल राज्य के मुख्य अउ गौण खनिज ले सालाना लगभग चार हजार करोड़ के रायल्टी मिलथे। येमा से गौण खनिज के सत-प्रतिसत रायल्टी ल पंचायत ल देके नीति अपनाये जाही। माने अब लगभग 240 करोड़ रूपिया के रायल्टी पंचायत ल मिलही। मुख्यमंत्री के बताये मुताबिक केन्द्र सरकार डहर ले स्थापित जिला खनिज न्यास म छत्तीसगढ़ ल ये बछर लगभग 11 सौ करोड़ रूपिया के राशि मिलइया हावय। येमा के अब तक 500 करोड़ रूपिया मिल तको गे हावय। अब तक सात खदान के नीलामी ले केन्द्र ल लगभग 29 हजार करोड़ रूपिया के राजस्व आही जेमा के 13 हजार करोड़ रूपिया राज्य मनला जारी करे गे हावय। देश के 32 लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र म अभी सिरिफ 8 लाख वर्ग किलोमीटर म खनिज संभावना दिखत हावय।

वॉटर हार्वेस्टिंग नइ करइया अधिकारी उपर होही कार्यवाही: कलेक्टर

अंजोर.ए/अंजोर। कलेक्टोरेट परिसर के रेडक्रास सभा भवन म आयोजित बइठका म रायपुर के कलेक्टर ओ.पी. चौधरी जी ह जुरियाए सबो अधिकारी मनला निर्देस देवत किहिन के अवइया दस दिन के भीतर सबो सरकारी भवन म वॉटर हार्वेस्टिंग कराना सुनिश्चित करे जाए। येकर बर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, लोक निर्माण अउ प्राइवेट एंजेसी से संपर्क करके वॉटर हार्वेस्टिंग करावए। ओमन यहू बात किहिन के करार दिन म काम पूरा नइ होय म संबंधित अधिकारी के विरूद्ध कड़ा कार्यवाही करे जाही। अउ जिला म लगे हैंड पम्प के तीर म सोख्ता गड्ढा जरूर बनवाय। येकर अलावा ओमन स्कूल भवन के साफ-सफाई अउ काम जरूरी कराये निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी ल दे हावय। बरसात के मउसम ल देखत रायपुर ल हरियर बनाये खातिर शहर म जादा ले जादा पेड़ लगावे, संगे-संग डिवाइडर अउ आऊटर म तको पौधा लगाए जाएं। येमा आम जनता मनले तको सहयोग के अपील करे गिस। 
बइठका म मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ह बताइन के वृक्षारोपण खातिर ग्रामीण क्षेत्र म 81 डऊर के चिन्हारी कर ले गे हावय जिहां पौधा लगाये जाही। कलेक्टोरेट के बइठका म राजस्व, कृषि, उद्यानिकी, महिला अउ बाल विकास, विद्युत, सहकारिता, श्रम, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, लोक निर्माण, स्वास्थ्य, परिवार कल्याण विभाग के संगे-संग आन सबो योजना के समीक्षा करे गिस जेमा अपर कलेक्टर एस.एन.राठौर, एडीएम डोमन सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नीलेश कुमार महादेव क्षीरसागर, अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) अउ जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उपस्थित रिहिन।

राज्य के 40 हाई स्कूल के दरजा बाढ़िस

रायपुर.अंजोर। राज सरकार ह ये पइत माने शिक्षण सत्र 2016-17 के बजट म 40 हाई स्कूल ल हायर सेकेंड्री करे के मंजूरी दे हावय। जारी आदेस के मुताबिक बलौदाबाजार-भाठापारा जिला के शा. हाई स्कूल गोड़ा, शा. हाई स्कूल सरखोर, खैदा अउ रसेड़ा, शा. हाई स्कूल कोसमसरा, शा. हाई स्कूल सेंदूरस, शा.  हाई स्कूल मनोहरा अउ केसली के उन्नयन करे गे हावय। अइसने महासमुंद जिला के भोथलडीह, डुडुमचुवा, अंकोरी, गिधली, पीढ़ी, चारभांठा के उन्नयन होइसे। रायपुर जिला के त्रिमूर्तिनगर-रायपुर अउ बड़ईपारा, खैरखुट, फरफौद। बेमेतरा जिला के कुसमी, तिलईकुड़ा। जांजगीर-चाम्पा जिला के कोसला, जोगीडीपा, चंदली, खोंधर (ड) कांसा, कमरीद, जावलपुर, चरौदा, जर्वेे, छितापंडरिया, धाराशिव अउ पीथमपुर स्कूल के उन्नयन होइसे। अइसेन कबीरधाम शा. हाई स्कूल पोलमी, शा. हाई स्कूल नवघटा, शा. हाई स्कूल बिरगांव अउ बैहाकांपा, शा. हाई स्कूल लगरा। धमतरी जिला के शा. हाई स्कूल करेगांव शा. हाई स्कूल रूद्री के उन्न्यन करके हायर सेकेंड्री बनाय गे हावय। ये सबो शासकीय हाई स्कूल ल हायर सेकेण्ड्री बनाये के बाद हरेक स्कूल म नौ पद के हिसाब ले 360 पद के स्वीकृति तको करे गे हावय जेन म व्याख्याता/व्याख्याता (पंचायत) के 160 पद, शिक्षक/शिक्षक (पंचायत), सहायक शिक्षक/ सहायक शिक्षक (पंचायत), ग्रंथपाल, सहायक ग्रेड-3 अउ भृत्य (नियमित) के 40-40 पद सामिल हावय।

महिला हेल्पलाईन अउ आंगनबाड़ी खातिर एसएमएस सुविधा
अंजोर.रायपुर। सुगभ्य भारत अभियान के तहत जागरूकता कार्यशाला के सुुभारंभ के मउका म आयोजित जलसा म महिला हेल्पलाईन टोल फ्री नम्बर 181 अउ आंगनबाड़ी केन्द्र खातिर मोबाइल एसएमएस सुविधा सुरू करत राज के मुखिया ह किहिन के ये नंबर म फोन करे के पइसा नइ लागय अऊ ये नंबर म घरेलू हिंसा, लैंगिक हिंसा, एसिड हमला, मानव तस्करी, बाल विवाह, लिंग चयन, भ्रूण हत्या, सतीप्रथा जइसन घटना ले पीड़ित होवइया मनला तुरते मदद मिलही। अइसने आंगनबाड़ी केन्द्र खातिर एसएमएस प्रणाली सेवा सुरू होय ले गुणवत्ता सुधार अउ कुपोषण म कमी आही। ये मउका म केन्द्रीय सामाजिक न्याय अउ अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत, केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर (सामाजिक न्याय अउ अधिकारिता), छत्तीसगढ़ सरकार के महिला, बाल विकास अउ समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, सहकारिता मंत्री दयालदास बघेल, राज्यसभा सांसद डॉ. भूषण लाल जागड़े, संसदीय सचिव श्रीमती रूपकुमारी चौधरी, संसदीय सचिव अम्बेश जांगड़े, प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव विवेक ढांड, महिला, बाल विकास अउ समाज कल्याण विभाग के सचिव सोनमणि बोरा, संचालक समाज कल्याण डॉ. संजय अलंग के संगे-संग अऊ आन अधिकारी मन जुरियाए रिहिन हाबे।
विधान सभा सत्र के बखत नइ मिलय छुट्टी
रायपुर.अंजोर। छत्तीसगढ़ के विधानसभा सत्र ह 11 जुलाई ले सुरू होके 19 जुलाई तक चलही। चलत सत्र म कोनो भी अधिकारी ल छुट्टी नइ मिलय। सबो विभाग के विधानसभा के सवाल के जवाब बने बखत म पठोही येकरो करार करे गिस। विधान सभा संबंधी जोन भी सवाल मिलही ओकर एक प्रति अधीक्षक कलेक्टोरेट कार्यालय ल तको पठोय जाही संगे-संग विधान सभा के प्रश्न के जानकारी भेजे अउ सवाल खातिर कंट्रोल रूम बनाये के निर्देस तको जिला कलेक्टर डहर ले जारी होय हाबे। विधान सभा ड्यूटी अउ विधान सभा प्रश्न के उत्तर बनाये म देरी या फेर लापरवाही करइया अधिकारी-कर्मचारी के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही तको करे जाही।
'हमर छत्तीसगढ़ योजनाÓ गांव-गांव के निर्वाचित जनप्रतिनिधि देखही रायपुर
रायपुर.अंजोर। राज के पंचायत जनप्रतिनिधि जइसे के पंच, सरपंच अउ सचिव मनला रायपुर राजधानी देखाय-घुमाये खातिर हमर छत्तीसगढ़ योजना के सुरूआत करे गे हावय। ये कड़ी म दुर्ग, बालोद अउ बेमेतरा जिला के ग्राम पंचायत के पंच, सरपंच मन भ्रमण खातिर रायपुर पहुंचिस। ओमन अपन गांव ले माटी, पानी अउ पौधा धरके आए रिहिन जेन ला नया रायपुर के बॉटनिकल गार्डन म लगाइन हाबे। तेकर पाछु ओमन ला जंगल सफारी, नया रायपुर, मंत्रालय, विधानसभा अउ पुरखौती मुक्तांगन तको घुमाए गिस। साइंस सेंटर म विज्ञान के चमत्कार, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय म खेती के उन्नत तकनीक के जानकारी अउ अच्छा पैदावार के तरीका के संगे-संग फल, फूल, सब्जी के खेती के जानकारी पाइन।

बछर भर म मिलही नि:शक्त (दिव्यांग)मनला पहचान पत्र
राजधानी म दिव्यांग लइका मन खातिर बनही 500 सीट के छात्रावास

रायपुर.ए/अंजोर। प्रदेश सरकार के समाज कल्याण विभाग के योजना के तहत नि:शक्त (दिव्यांग) लइका मनके छात्रवृत्ति दोगुना करे के घोषणा अलावा समाज कल्याण विभाग डहर ले राजधानी रायपुर म पांच सौ सीट के छात्रावास बनाये के घोषणा तको करे गे हावय। जलसा म आगू यहू बात के जानकारी दिस के प्रदेश के सबो छह लाख 25 हजार नि:शक्त मनला एक साल के भीतर सर्वे करके ओमन ला पहचान पत्र जारी करे जाही। जानकारी के मुताबिक अब तक समाज कल्याण विभाग ह चार लाख 50 हजार दिव्यांगजन ल पहचान पत्र जारी कर डारे हावय बाकि मनला घलो एक साल के भीतर दे जाही। अउ दिसम्बर 2016 तक प्रदेश के सबो जिला के सार्वजनिक अउ सरकारी भवन मन ल दिव्यांगजन खातिर बाधा रहित बनाये खातिर जिला कलेक्टर मनला एक महीना के भीतर प्रस्ताव तैयार करके भेजे के निर्देस दे गे हावय ताकि ओला केंद्र ल भेजे जा सकय। केन्द्रीय सामाजिक न्याय अउ अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत जी ह तको रायपुर म बनइया पांच सौ सीट के छात्रावास भवन के निर्माण खातिर मदद करे के सहमति देदे हावय। ये मउका म केन्द्रीय सामाजिक न्याय अउ अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, छत्तीसगढ़ के समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, सहकारिता, पर्यटन अउ संस्कृति मंत्री दयालदास बघेल, संसदीय सचिव द्वय श्रीमती रूप कुमारी चौहान अउ अम्बेश जांगड़े, राज्य सभा सांसद डॉ. भूषण लाल जांगड़े, मनोनीत विधायक बर्नाड जोसेफ रोड्रिक्स, छत्तीसगढ़ नि:शक्तजन वित्त अउ विकास निगम के अध्यक्ष श्रीमती सरला जैन, छत्तीसगढ़ अन्त्यवसायी सहकारी वित्त अउ विकास निगम के अध्यक्ष निर्मल सिन्हा मौजूद रिहिन हाबे। 

स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन के लोकार्पण

रायपुर.ए/अंजोर। केन्द्रीय मंत्री वेंकैया नायडू जी के माई पहुनाई म दुर्ग जिला के नेवई म बने स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय के नवा प्रशासनिक भवन के लोकार्पण करे गिस। ये भवन ल छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल संभाग दुर्ग डहर ले लगभग नौ करोड़ 70 लाख रूपिया के प्रशासकीय स्वीकृति म बनाये गे हावय। ये मउका म कॉलेज म स्वामी विवेकानंद जी के आदमकद प्रतिमा के अनावरण तको करे गिस। जलसा म लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत, उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा अउ राजस्व मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय, महिला, बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, संसदीय सचिव लाभचंद बाफना, विधायक विद्यारतन भसीन, विधायक सांवला राम डाहरे मुख्य रूप ले उपस्थित रिहिन। जलसा म अपन विचार राखत माई पहुना ह किहिन के महापुरूष मन के मूर्ति मन हमर प्रेरणा स्त्रोत आए। अउ पाठ्यपुस्तक म महापुरूष मनके जीवनी, ऊंकर आदर्श, विचार अउ काम के समुचित समावेश होना चाही। ओमन आगू किहिन के भारत म कौशल के कोनो कमी नइये। हरेक आदमी कोनो न कोनो हुनर जानथे। इही हुनर ल अउ ओगराए खातिर देश के प्रधानमंत्री ह स्किल डेवल्हपमेंट योजना लागू करे हावय। जेकर फायदा हुनरमंद मनला मिलत हावय। 
शिक्षा के क्षेत्र म निजी सस्थान मनके आए ले प्रतिस्पर्धा बाढ़े हावय। ये दिशा म छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय के स्थापना ह प्रदेश के युवा मन खातिर सार्थक कदम साबित होही। ये मउका म छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह अपन विचार रखत किहिन के तकनीकी विश्वविद्यालय स्थापना  ले क्षेत्र के जनता के 11 साल के सपना सिरतोन होय हावय। ओमन भिलाई वाले मनला बधाई देत किहिन के अब भिलाई ल देश के सर्वाधित प्रतिष्ठित आईआईटी के सौगात तको मिलगे। येकर ले प्रदेश के युुवा मनला विश्व पटल म अपन-आप ल स्थापित करे के अवसर मिलही। 

रायपुर के जादा प्रदूषण वाला उद्योग होही बंद 

दस बछर के ट्रक अउ बारह बछर जुन्ना बस ल नइ मिलय परमिट

रायपुर.अंजोर। मुख्यमंत्री  निवास कार्यालय म आयोजित छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल के बइठका म अधिकारी मनला ठोस कार्रवाई करे के निर्देस दे गिस। जेन म परमुख रूप ले राज म जुन्ना वाहन म पाबंदी लगाये अउ रायपुर के तिर-तखर के जादा प्रदूषण फैलइया उद्योग मनला बंद करे के फइसला करे गिस। रायपुर के आस-पास लगे उद्योग के प्रदूषण के ऑन लाईन निगरानी करे जाए। बारह बछर जुन्ना बस के  परमिट ल रद्द करे जाही, चाहे कतको दुरिहा चलत होही। संगे-संग दस साल जुन्ना ट्रक के परमिट ल रद्द करे तको फैसला करे गिस। ट्रक मालिक मनला अब गाड़ी बदले खातिर एक साल के समय तको दे गे हावय। येकर अलावा आन राज ले छत्तीसगढ़ अवइया गाड़ी म आठ साल ले जुन्ना गाड़ी ल पंजीकृत नइ करे के निर्देस दे गे हावय। बैठक म रायपुर, दुर्ग-भिलाई, बिलासपुर शहर म ई-रिक्शा ल प्रोत्साहित करे खातिर योजना बनाये जाही। अधिकारी मनला ल बइठका म रायपुर शहर म ठोस अपशिष्ट अउ जैव अपशिष्ट के प्रबंधन खातिर कार्ययोजना बनाये के निर्देश तको दे गिस। रेल्वे लाइन के तिरे-तिर बसइया मन कोइला जलाथे तेन मनला प्रदुषण रोके खातिर प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत नि:शुल्क रसोई गैस कनेक्शन दे खातिर विचार करे के निर्देश दे गिस। येकर अलावा छत्तीसगढ़ पर्यावरण मण्डल ह उद्योग, बिल्डर, गृह निर्माण मण्डल अउ रायपुर विकास प्राधिकरण के सहयोग ले रायपुर म 23.90 लाख पौधा लगाये के कार्ययोजना बनाय हावय।


वन विभाग के 'मुख्यमंत्री बाड़ी-बांस योजनाÓ सुरू

रायपुर.अंजोर। राज्य सरकार डहर ले गांव म बांस के उपयोग अउ मांग ल देखत ओकर उत्पादन ल बढ़ाये खातिर बाड़ी-बांस योजना के सुरूआत होय हावय। ये योजना खातिर चालू वित्तीय वर्ष 2016-17 म ढाई करोड़ रूपिया के बजट के प्रावधान करे गे हावय। दिनों-दिन बाढ़त बांस के मांग ल देखत, मांग अउ पूर्ति के बीच के अंतर ल कम करे बर ये योजना ह कारगर साबित होही। बांस गरीब आदमी के इमारती काष्ठ (श्चशशह्म् रूड्डठ्ठ'ह्य ञ्जद्बद्वड्ढद्गह्म्) के रूप म जाने जाथे। बांस के उपयोग ग्रामीण अंचल म मकान बनाये, बांस के टोकनी, सूपा, चरिहा जइसन घरेलू सामान तको बनाये जाथे। बांस एक बहुउपयोगी लकड़ी के विकल्प, मजबूत अउ किफायती घास प्रजाति के तेजी से बढ़ने वाला पौधा आए जेकर कटाई तीन से पांच साल तक करे जा सकथे। योजना के अंतर्गत बाड़ी बर उपयोगी अउ जल्दी बढ़ने वाला बांस उच्च गुणवत्ता के क्चड्डद्वड्ढह्वह्यड्ड ड्ढड्डद्यष्शशड्ड,(बीमा बांस)  क्चड्डद्वड्ढह्वह्यड्ड ह्लह्वद्यस्रड्ड, क्चड्डद्वड्ढह्वह्यड्ड ठ्ठह्वह्लड्डठ्ठह्य, ष्ठद्गठ्ठस्रह्म्शष्ड्डद्यड्डद्वह्वह्य ड्डह्यश्चद्गह्म् (खाने वाला बांस) अउ आन बांस प्रजाति के टीशु कल्चर के पौधा रोपण खातिर ग्रामीण मनला दे जाही।
सिरी महेश गागड़ा, वन मंत्री छ.ग. शासन-
''ये योजना ले लोगन ल बांस के पौधा फोकट म दे जाही। साथ ही लोगन ला रोपण अउ उत्पादन के तकनीक के बारे म तको जानकारी दे जाही। बाड़ी-बांस योजना ल राज्य के सबो जिला म लागू करे जाही अउ कम बांस वाले क्षेत्र, विशेष जनजातीय क्षेत्र अउ बसोड़ परिवार जिहा जादा निवासरत होही उहां मांग के अनुसार प्राथमिकता दे जाही।ÓÓ

जनदर्शन म बैगा जनजाति के युवा मन पढ़ई खातिर मांगिस मदद

रायपुर.अंजोर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निवास कार्यालय म आम जनता ले मुलाकात कार्यक्रम जनदर्शन म कबीरधाम जिला के बोडला विकासखण्ड के ग्राम लूप ले आए बैगा जनजाति के युवा मन मुखिया ले मुलाकात करिन। ओमन सरकार ले गोहार करिन के बी.एड. के डिग्री अउ डी.एड. के डिप्लोमा पाठ्यक्रम के पढ़ाई खातिर राज्य शासन ऊंकर मदद करय। बैगा मन मुख्यमंत्री ल बताइन के शिक्षाकर्मी वर्ग-तीन म भर्ती खातिर बी.एड. अउ डी.एड. होना आवश्यक होगे हावय येकरे सेती वोहू मन ये पढ़ाई करना चाहत हावय, फेर पूरा जानकारी अउ धन के आभाव म संभव नइ हो पावत हावय। जनदर्शन म ओकर आवेदन ल स्वीकारे के बाद आवश्यक कार्रवाई खातिर शिक्षा विभाग के सचिव कना पठो दे गे हावय। अब ये तो समे बताही के आवेदन ह रद्दी म जाही या फेर बैगा आदिवासी मन तको मास्टरी पढ़ पाही।

असाढ़ म आयोजित होइसे रामगढ़ महोत्सव
रामगढ़ नाट्यशाला एतिहासिक अउ सांस्कृतिक विरासत आए: कमलभान सिंह

अम्बिकापुर.ए/अंजोर। सरगुजा अंचल के रामगढ़ म असाढ़ के पहिली दिन ले जबर जलसा के आयोजन करे गे रिहिसे। रामगढ़ महोत्सव के नाव ले आयोजित जलसा के उद्घाटन के शासकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय अम्बिकापुर के ऑडिटोरियम म करे गिस ये मउका म छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष टी.एस. सिंहदेव, संासद कमलभान सिंह, कलेक्टर भीम सिंह अउ संस्कृति विभाग के उप संचालक जे.आर. भगत के अलावा गजब झिन इतिहासकार मन जुरियाए रिहिन। 
ये मउका म टी.एस. सिंहदेव जी ह रामगढ़ के ऐतिहासिक विरासत के संदर्भ म अपन विचार राखत किहिन के रामगढ़ के पहाड़ी समाज बर मार्गदर्शी स्थल आए। ओमन आगू किहिन के रामगढ़ महोत्सव के माध्यम ले समाज म अच्छा विचार पहुंचाये जाए जेकर ले भविष्य निर्माण म मदद मिलही। कोनो भी तथ्य अउ घटना के आधार म ही इतिहास लेखन होथे। प्रमाणिकता के अभाव म लिखे बात ल इतिहास नइ कही सकन। रामगढ़ म शोधकर्ता मन बर गजब अवसर हावय। कार्यक्रम म आगू सरगुजा के सांसद ह अपन विचार राखत किहिन के रामगढ़ के नाट्यशाला विश्व म सबले जुन्ना नाट्यशाला माने जाथे ये हमर ऐतिहासिक अउ सांस्कृतिक धरोहर आए। सरगुजा के सुंदरता ह लोगन ल हइां आए बर मजबूर कर देथे। इहां चर्चित  सीताबेंगरा गुफा पर्यटक अउ पुरातत्वेत्ता मन ल हमेशा आकार्षित करथे। महाकवि कालीदास के अमरकृति मेघदूतम् के रचनास्थली रामगढ़ म अनादीकाल ले गोष्ठि, नाटक मंचन अउ संस्कृत के विद्वान मनके कवि सम्मेलन होते राहय। हमला आगू घलोक अपन इतिहास ल संजोए राखना हावय। इही पाके रामगढ़ महोत्सव के आयोजन 1969 ले अब तक सरलग होवत हाबे। 
- जे.आर. भगत (उप संचालक, पुरातत्व विभाग) ऐतिहासिक ठऊर मनके शोध कराये के दिशा म छत्तीसगढ़ शासन प्रयासरत हावय। इहां के रामगढ़, डीपाडीह, महेसपुर, वाड्रफनगर ह शैलचित्र ले भरे परे हावय। मंदिर अउ शैलचित्र के संरक्षण खातिर  पुरातत्व संग्राहलय बनाये जाही। महेसपुर म जुन्ना मूर्ति के संरक्षण के काम चलत हावय।

ग्राम पंचायत खातिर इंटरनेट सुविधा के होइस लोकार्पण
संचार क्रांति के सेती बलरामपुर बनिस पूरा भारत म आदर्श जिला

बलरामपुर.ए/अंजोर। केन्द्रीय संचार अउ सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद जी ह अपन छत्तीसगढ़ प्रवास म राज्य के नक्सल प्रभावित आदिवासी बहुल अंचल खातिर एकमुश्त 146 मोबाइल टावर के लोकार्पण करिस। संगे-संग ओमन आदिवासी बहुल बलरामपुर-रामानुजगंज जिला के ग्राम पंचायत खातिर राष्ट्रीय फाईबर ऑप्टिकल नेटवर्क ले विकसित इंटरनेट सुविधा के लोकापर्ण तको करिस अउ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह संग रविशंकर प्रसाद जी मन तको वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ले बलरामपुर-रामानुजगंज जिला के ग्रामीण मन संग गोठबात करिन। जानबा होवय के ये जिला म 340 ग्राम पंचायत हावय जेमा के सबो ल अत्याधुनिक संचार नेटवर्क ले जोड़े गे हावय। अब बलरामपुर ह इंटरनेट के सेती छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि पूरा भारत बर आदर्श जिला बनगे। अंचल म लगे 146 मोबाइल टावर म 73 मोबाइल टावर बस्तर संभाग म अउ 73 मोबाइल टावर सरगुजा संभाग म लगाए गे हावय। अऊ नक्सल प्रभावित जिला म संचार नेटवर्क बढ़ाये खातिर बस्तर म 35 अऊ नवा मोबाइल टावर ल तत्काल मंजूर करिन। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह राज्य म 1600 अऊ मोबाइल टावर स्वीकृत करे के मांग करे रिहिसे जेन म ये साल 1085 टावर मंजूर करे घोसना करे गिस। जेमा 865 टावर 3 जी अउ 220 टावर 4-जी के होही। अवइया दू साल के भीतर छत्तीसगढ़ म 2000 नवा मोबाइल टावर लगाये जाही। जानकारी के मुताबिक छत्तीसगढ़ म वाई-फाई सुविधा वाले ठउर ल तको बढ़ाके 220 तक करे जाही। प्रमुख पर्यटन स्थल मन म तको वाई-फाई सुविधा दे जाही ताकि उहां अवइया-जवइया मन अपन घर परिवार के संपर्क म रेहे रही।

'श्रद्धाजंलि योजनाÓ, अंतिम संस्कार खातिर मिलही 2000 के आर्थिक सहायता

रायपुर.अंजोर। राज्य सरकार ह गांव के गरीब परिवार के मुखिया या कोनो कमाऊ सदस्य के मउत होय म ओकर अंतिम संस्कार खातिर 'श्रद्धाजंलि योजनाÓ सुरू करे हावय। ये योजना के तहत ग्राम पंचायत ले तुरते दू हजार के मदद करे जाही। योजना के जानकारी जन-जन तक पहुंचाये खातिर बने प्रचार-प्रसार करे के जिम्मा अधिकारी मनला दे गे हावय। 
योजना के तहत लाभान्वित होवइया परिवार-
(अ) अनिवार्यत: शामिल सूचकांक (ष्टशद्वश्चह्वद्यह्यशह्म्4 ढ्ढठ्ठष्द्यह्वह्यद्बशठ्ठ ष्टह्म्द्बह्लद्गह्म्द्बशठ्ठ)- 1. बेघर परिवार  2. निराश्रित/भिक्षुक 3. मैला ढोने वाला 4. आदिम जनजाति समूह 5. कानूनी रूप ले विमुक्त करे बंधुवा मजदूर।
(ब) वंचन सूचकांक (ष्ठद्गश्चह्म्द्ब1ड्डह्लद्बशठ्ठ ढ्ढठ्ठस्रद्बष्ड्डह्लशह्म्ह्य)- 1. कच्चा दीवार अउ कच्चा छत के साथ सिरिफ एक कमरा के घर म रहइया परिवार 2. परिवार म 16 ले 59 साल के बीच के कोनो बड़े सदस्य नइ रेहे म। 
3. महिला मुखिया वाला परिवार जेमा 16 ले 69 साल के बीच के कोनो पुरूष सदस्य नइ रेहे म। 4. नि:शक्त सदस्य वाला घर अउ कोनो बने शरीर वाला सदस्य के नइ रेहे म। 
5. अनुसूचित जाति/जनुसूचित जनजाति परिवार। 
6. अइसन परिवार जिहां 25 साल ले आगर के कोनो वयस्क साक्षर नइ रेहे म।
7. भूमिहिन परिवार जोन अपन ज्यादतर कमई दिहाड़ी मजदूरी ले पाथे।


नगरपालिका जांजगीर-चांपा बर 10.63 लाख के मंजूरी

जांजगीर-चांपा.ए/अंजोर। राज्य शहरी विकास अभिकरण ले हाट बाजार समृद्धि के आधार योजना के तहत नगरपालिका परिषद् जांजगीर चाम्पा ल 10.63 लाख रुपिया के अतिरिक्त राशि के मंजूरी होय हाबे। ये राशि के उपयोग नगर पालिका क्षेत्र म बनत हाट बाजार म आर आर सी शेड बनाये म करे जाही, ये संबंध म आदेस मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगरपालिका परिषद् जांजगीर-चांपा ल जारी कर दे गे हावय।
सूखाग्रस्त इलाका म बिगर राशन कार्ड के प्रति व्यक्ति मिलही 5 किलो चाऊर
रायगढ़.ए/अंजोर। रायगढ़ कलेक्टोरेट सभाकक्ष म एक बइठका म जिला कलेक्टर रायगढ़ ह खाद्य विभाग के अधिकारी मनला निर्देसित करत किहिन के सूखा ग्रस्त जिला होए के सेती जिला के ग्रामीण क्षेत्र के हरेक पंचायत भवन के राशन दुकान म 10 क्ंिवटल चाऊर रखे जाही अउ जेन हितग्राही कना राशन कारड नइये ओमन ला आधार कारड के आधार म एकक आदमी के हिसाब ले 5 किलो चाऊर 3 रुपिया के भाव से दे जाही। ओमन आगू किहिन के जेकर मउत होगे हावय ओकर नाम ल कारड ले कांटे जाए। मुख्यमंत्री जनदर्शन, जन शिकायत निवारण प्रकोष्ठ, जिला जनदर्शन अउ टीएल के लंबित पाती मनके लघियात निराकरण कराये जावे। ये बइठका म कलेक्टर श्रीमती मंगई डी संग अपर कलेक्टर श्याम धावड़े, एसडीएम  विनीत नंदनवार, अपर कलेक्टर प्रियंका ऋषि महोबिया, सीईओ जिला पंचायत चंदन संजय त्रिपाठी अऊ एसडीएम मन जुरियाए रिहिन।

डॉ. खूबचंद बघेल सम्मान खातिर 31 जुलाई तक आवेदन

जांजगीर-चांपा.ए/अंजोर। राज सरकार डहर ले दे जाने वाला डॉ. खूबचंद बघेल पुरस्कार 2016 खातिर जिला के किसान मनले अवइया 31 जुलाई तक आवेदन मांगाय गे हावय। किसान मन अपन आवेदन पत्र ल उप संचालक कृषि जिला जांजगीर-चांपा के कार्यालय म जमा कर सकथे। पुरस्कार म चयनित किसान ल दू लाख रूपिया अउ सम्मान पाती दे जाही। करार दिन म पहुंचे आवेदन म ही विचार करे जाही, आवेदन पत्र अउ सपथ पत्र उप संचालक कृषि जिला जांजगीर-चांपा के कार्यालय ले तको प्राप्त कर सकत हावय। जानकारी के मुताबिक पुरस्कार खातिर निर्धारित योग्यता म प्रमुख रूप ले किसान ल छत्तीसगढ़ के मूल निवासी होना अउ ओमन ला पाछु दस बछर ले जिला म खेती करत होना चाही। ऊंकर कुल आय के 75 प्रतिशत हा सिरिफ खेती ले होना अउ तकाबी, सिंचाई शुल्क, सहकारी बैंक के करजादार झिन होवय। खेती के नवा तकनीकी, समन्वित कृषि प्रणाली, फसल विविधीकरण से खेती करय संग म अऊ आन खेती ले जुरे बुता म ओकर जबर योगदान होवय ओमन सरी बुता के, अउ उपलब्धि मनके प्रमाण पत्र के फोटोकापी, सी.डी. फोटोग्राफ अउ जरूरी कागजात ल आवेदन म समोखए।

देश की पहिली वाणिज्यिक अदालत छत्तीसगढ़ म सुरू
ई-कोर्ट, ई-लाइब्रेरी, ई-फाईलिंग अउ ई-समंस जइसन आधुनिक सुविधा

रायपुर.ए/अंजोर। नया रायपुर म देश के पहिली वाणिज्यिक अदालत के सुरूआत पाछु दिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश मदन बी. लोकुर, छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश दीपक गुप्ता, राजस्थान उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश नवीन सिन्हा, वाणिज्य अउ उद्योग मंत्री अमर अग्रवाल के पहुनई म करे गिस। ये वाणिज्यिक अदालत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, ई-कोर्ट, ई-लाइब्रेरी, ई-फाइलिंग अउ ई-समंस जइसन आधुनिक सुविधायुक्त हावय। वाणिज्यिक न्यायालय अउ वाणिज्यिक विवाद समाधान केन्द्र के सुरू होय ले इहां के निवेशक अउ व्यापारी वर्ग ले जुरे लोगन ल गजब फायदा होही। ये न्यायालय अउ इहां के आधुनिक सूचना-संचार सुविधा निवेशक मनला प्रोत्साहित घलोक करही। 264 वर्ग मीटर के क्षेत्रफल म बने देश के सम्पूर्ण समर्पित अत्याधुनिक वाणिज्यिक अदालत म वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हाल, बार सदस्य कक्ष, जज कक्ष, अभिलेख कक्ष, ई-लाईब्रेरी बने हावय। जानबा होवय के दिल्ली उच्च न्यायालय म वाणिज्यिक मामला के निराकरण खातिर चार खण्डपीठ ल कामर्शियल डिविजन बनाये गे हावय। मुम्बई उच्च न्यायालय घलोक कुछ जज ल कामर्शियल डिविजन म नामित करे हावय, लेकिन छत्तीसगढ़ म अलग से सरी सुविधा वाला देश के पहली वाणिज्यिक अदालत के स्थापना होय हाबे।
सिरी मदन बी. लोकुर, न्यायाधीश (सर्वोच्च न्यायालय)
''अगर कार्यपालिका अउ न्यायपालिका म दृढ़ इच्छा शक्ति होही तभे काम जल्दी होही। अब ले वाणिज्यिक विवाद के निपटारा लघियात होवत जाही। न्यायिक सुधार म छत्तीसगढ़ तीसरइया नम्बर म हावय अऊ आगू अइसन उम्मीद हावय के छत्तीसगढ़ पहिली नंबर म पहुंचही।ÓÓ
सिरी दीपक गुप्ता, मुख्य न्यायाधीश (छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय)-
''मैं रायपुर आके दस जून के नया रायपुर के स्थल निरीक्षण करे रेहेवं। अउ मुख्यमंत्री तत्परता के सेती सिरिफ बीस दिन म 'स्टेट ऑफ दी आर्टÓ के रूप म गजब सुघ्घर भवन मिलगे। छत्तीसगढ़ तेजी से विकसित होवथे, इहां उद्योग आवथे। अइसन म वाणिज्यिक विवाद के निपटारा खातिर ये न्यायालय के जरूरत महसूस होवत रिहिसे जोन अब पूरा होगे।ÓÓ

फसन बीमा खातिर ग्रामीण विस्तार अधिकारी मनला लक्ष्य

बिलासपुर.ए/अंजोर। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत 31 जुलाई तक खरीफ फसल के बीमा करे जाही।  जानकारी के मुताबिक बिलासुपर जिला म 20 हजार अऋणि किसान हवय। जिला कलेक्टर ह सत-प्रतिसत किसान मनके फसल के बीमा कराये के निर्देस दे हावय, कृषि विभाग येखर लिये निर्धारित कार्ययोजना बनाके काम करय। फसल के बीमा कराये खातिर कृषि विभाग के हरेक ग्रामीण विस्तार अधिकारी मनला लक्ष्य दिये जाए। अउ एसडीएम स्वयं अपन स्तर म येकर निगरानी करय। लक्ष्य ल पूरा करे खातिर गांव के सरपंच, सचिव सबो साथ मिलके काम करना परही। हर हफ्ता काम के समीक्षा होही के काकर काम कतका होय हाबे अऊ कतका बांचे हावय। संगे-संग खाद भण्डारण के जानकारी लेवत डीएपी खाद पर्याप्त मात्रा म उपलब्ध कराये बर किहिन। सबो एसडीएम नियमित रूप ले खाद के उपलब्धता के समीक्षा करत किसान मनके समस्या के निराकरण करत रही।
अन्बलगन पी., (कलेक्टर बिलासपुर)
''निर्धारित कार्ययोजना बनाके काम करय अउ हरेक हफ्ता येकर समीक्षा होना चाही। पंच-सरपंच, सचिव सबो के जुरमिल प्रयास ले ही सत प्रतिसत फसल बीमा के लक्ष्य पूरा होही।ÓÓ


पुसौर के नायब तहसीलदार खाण्डे के विरूद्ध कड़ा कार्रवाई के निर्देश, बरमकेला तहसीलदार एक्का ल शो-काज नोटिस जारी

रायगढ़.ए/अंजोर। जिला कलेक्टर श्रीमती अलरमेलमंगई डी ह कलेक्टोरेट सभाकक्ष म राजस्व अधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, अउ रीडर मनके संघरा समीक्षा बैठक लिस। बइठका म राजस्व अधिकारी, तहसीलदार मन ले नामांकन, बटांकन, सीमांकन, नामांतरण, आरबीसी 6-4, विद्यार्थी मनके जाति प्रमाण-पत्र के संबंध म विस्तार ले जानकारी लिस। इही संबंध म कलेक्टर ह पुसौर नायब तहसीलदार भागीरथी खाण्डे अउ बरमकेला तहसीलदार श्रीमती व्ही.के.एक्का से लोक सेवा केन्द्र के राजस्व ले संबंधित आवेदन अउ जाति प्रमाण-पत्र के संबंध म जानकारी मांगिस फेर संबंधित तहसीलदार डहर ले संतोषजनक जवाब न दे के सेती कलेक्टर ह कड़ा कार्रवाई करत व्ही.के.एक्का ल कारण बताओ सूचना पत्र अउ घोर लापरवाही करइया पुसौर नायब तहसीलदार भागीरथी खाण्डे के विरूद्ध निलंबन के अनुशंसा करे के निर्देस संबंधित अधिकारी मनला दे हावय। आगू ओमन रीडर मनला तको कड़ा चेतावनी देवत काम के तरीका म सुधार करे के निर्देस दे हावय। कलेक्टर श्रीमती मंगई डी ह अधिकारी मन ले आबादी भूमि पट्टा वितरण के संबंध म जानकारी लेवत बांचे 407 ग्राम के सर्वेक्षण के काम ल 30 तक सितम्बर तक पूरा करे के निर्देस दे हावय। ओमन किहिन के येकर बर टीम बनाके एक-एक गांव के सर्वे करके आबादी भूमि पट्टा के प्रकरण बनाकर कलेक्टर कार्यालय म प्रस्तुत करय ताकि अनुशंसा के बाद ओला शासन ल भेजे जा सके।